टॉप न्यूज़
Trending

Bharat Ratna: कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न.. अखिलेश बोले-‘एकजुटता की जीत’

कर्पूरी ठाकुर दिसंबर 1970 से जून 1971 तक और दिसंबर 1977 से अप्रैल 1979 तक बिहार के CM रहे

द न्‍यूज ऑन टीम | बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी नेता कर्पूरी ठाकुर को मरणोपरांत ‘Bharat Ratna’ से सम्मानित किया जाएगा. जननायक कर्पूरी ठाकुर को Bharat Ratna दिए जाने पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की भी प्रतिक्रिया आई है. सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि यह सामाजिक न्याय के आंदोलन की जीत है.

यह भी पढ़ें :https://thenewsonn.com/ayushman-bharat-4-77-kroad-helth-akaunt-bnakr-yoopee-desh-men-avvl/

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर लिखा- “जननायक कर्पूरी ठाकुर जी को मरणोपरांत घोषित भारत रत्न दरअसल ‘सामाजिक न्याय’ के आंदोलन की जीत है, जो दर्शाती है कि सामाजिक न्याय व आरक्षण के परंपरागत विरोधियों को भी मन मारकर अब पीडीए के 90% लोगों की एकजुटता के आगे झुकना पड़ रहा है. PDA की एकता फलीभूत हो रही है.”

वहीं सपा नेता स्वामी प्रासद मौर्य ने एक्स पर लिखा- “जननायक कर्पूरी ठाकुर जी को जन्म शताब्दी के अवसर पर मरणोंपरांत भारतरत्न दिये जाने की घोषणा, सामाजिक न्याय की जीत है तथा कर्पूरी ठाकुर जी के विराट व्यक्तित्व के अनुरूप भी। साथ ही साथ यह सम्मान इस देश के गरीबों, आदिवासियों, दलितों, पिछडो व महिलाओ को सम्मान दिलाने, गैर बराबरी खत्म कर समता मूलक समाज बनाने, जाति-पाति, छुआछूत, ऊंच-नीच खत्म करने हेतु किये गये कर्पूरी ठाकुर जी के प्रयासों व संघर्षो की भी जीत है, जिसका हम स्वागत करते हैं.”

https://x.com/thnewsonn/status/1749157356947308711?s=20

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक्स पर पोस्ट कर लिखा- “मुझे खुशी है कि भारत सरकार ने सामाजिक न्याय के प्रतीक, महान जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से सम्मानित करने का फैसला किया है और वह भी ऐसे समय में जब हम उनकी जन्म शताब्दी मना रहे हैं.” बता दें कि ‘जननायक’ के रूप में मशहूर समाजवादी नता कर्पूरी ठाकुर दिसंबर 1970 से जून 1971 तक और दिसंबर 1977 से अप्रैल 1979 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे. 17 फरवरी 1988 को उनका निधन हो गया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×